भगवान विश्वकर्मा को निर्माण एवं सृजन या वास्तुकला का देवता माना गया है, जिसे मॉडर्न युग में आर्किटेक्ट कहा जाता है। उन्हें विश्व का प्रथम आर्किटेक्ट का दर्जा प्राप्त होने के साथ ही धातु या मशीनों का प्रथम आविष्कारक भी माना जाता है। हिन्दू धर्म की मान्यताओं के अनुसार रावण की विशाल और शक्तिशाली सोने की लंका, देवताओं के निवास स्थल स्वर्ग लोक, महाभारत काल का हस्तिनापुर, भगवान श्रीकृष्ण की द्वारका नगरी भी उन्होंने अपने ही हाथों से डिजाइन किया था। 

Read More